Latest stories

  • in

    जाना कहीं नहीं है.

    गांव की एक औरत ने तेजी से आ रही बस को हाथ दिखाकर रोका
    ड्राइवर ने अचानक ब्रेक मारा और पूछा:
    कहां जाना है
    औरत बोली:
    जाना कहीं नहीं है.
    बच्चा रो रहा है जरा पों-पों बजा दो

    Advertisements
  • in

    मम्मी ने आने नहीं दिया”।

    एक बार एक दादा – दादी ने जवानी के दिनों को याद करने का फैसला किया।
    अगले दिन दादा फूल ले कर वहीँ पहुंचा जहां वो जवानी में मिला करते थे, वहां खड़े-खड़े दादा के पैरों में दर्द हो गया लेकिन दादी नहीं आयी।
    घर जा कर दादा गुस्से से, “आयी क्यों नहीं”?
    दादी शर्माते हुए, ” मम्मी ने आने नहीं दिया”।

  • in

    निकाल डंडा मार साले को, जब तक डंडा न टूटे..!

    शादी के पहले मां ने बेटी को सलाह दी-

    बेटी ध्यान रखना कि यदि पति पहली बार रूठे तो रब रूठे,

    दूसरी बार रूठे तो दिल टूटे,

    तीसरी बार रूठे तो जग छूटे,

    और अगर बार-बार ही रूठता ही रहे तो..

    निकाल डंडा मार साले को, जब तक डंडा न टूटे..!

  • in

    ठीक है तो फिर तलाक दे दो।

    रमा- आज मेरे पति का जन्मदिन है मैं उन्हें एक यादगार तोहफा देना चाहती हूं पर समझ में नहीं आ रहा उन्हें क्या उपहार दूं?

    सीमा- उपहार अपनी पसंद का देना चाहती हो या उनकी पसंद का?

    रीमा- उनकी ही पसंद का देना ठीक रहेगा आखिर जन्मदिन तो उन्हीं का है ना।

    सीमा- ठीक है तो फिर तलाक दे दो।

  • in

    उसने मुझे मोटी भैंस कहा ?

    एक युवती – तुमने मेरे बेटे को क्यों मारा ?

    मोटी युवती – उसने मुझे मोटी भैंस कहा ?

    वही युवती – तो बहन ! तुम्हें मेरे बेटे को मरने की बजाय अपनी खुराक में कमी करनी चाहिए |

  • in

    लोरी सुनाकर सुला क्यों नहीं देती?

    पति :मुन्ना कब से रो रहा है।
    इसे लोरी सुनाकर सुला क्यों नहीं देती?
    पत्नी : लोरी सुनाती हूं तो पड़ोसी कहते हैं कि भाभी जी इससे अच्छा तो मुन्ने को ही रोने दो.

  • in

    महिलाओ को गोल-गप्पे बिलकुल मुफ्त

    करवा चौथ पर विशेष ऑफर

    करवा चौथ का व्रत रखने वाली
    सभी महिलाओ को गोल-गप्पे बिलकुल मुफ्त !

    शर्ते लागू:
    ऑफर केवल चन्द्रमा के निकलने से पहले तक

  • in ,

    एक लड़की स्कूटी से टक्कर मार के निकल गई

    पतिदेव हाथ पाँव छिलवाकर और एक आँख सुजवाकर घर आए…..
    पत्नी ने घबराकर पूछा : अरे क्या हुआ ???
    पति : अरे कुछ नहीं, एक लड़की स्कूटी से टक्कर मार के निकल गई।
    पत्नी : तो उसके स्कूटर का नंबर नोट किया ? उसके स्कूटर का रंग क्या था कुछ तो याद होगा।

    पति : नहीं, दर्द के कारण स्कूटर का रंग और नंबर तो नहीं देख पाया पर, उसने गहरे हरे रंग का सूट पहना था, हाथों में गुलाबी कलर की चूड़िया थीं, गहरे लाल कलर की लिपस्टिक लगाई थी, कानों में हीरे की बालियाँ थीं, उसके बाल काफी लम्बे थे, हाथों में बहुत बढ़िया मेहँदी भी लगी थी और हाँ उसके दायें गाल पे होठों के पास एक बहुत अच्छा सा तिल भी था …
    ????अब ये मत पूछना कि, पतिदेव की दूसरी आँख कैसे सूजी ???????

  • in ,

    बहन यह साँड़ है गाय नहीं

    एक महिला एक साँड़ को घी – चुपडी़ रोटियाँ खिला रही थी। वहां खड़े एक सज्जन को संशय हुआ कि कदाचित् यह महिला, साँड़ को गाय समझ रही है… तब..
    सज्जन व्यक्ति – बहन यह साँड़ है गाय नहीं, आप इसे रोटियाँ खिला रही हैं किन्तु यह प्रति दिन गाँव में तीन चार लोगों को सींग मार कर हड्डियाँ तोड़ देता है..!!

    महिला – भाईसाहब मुझे पता है कि यह साँड़ है, मेरे पति ओथोॅपेडिक डॉक्टर है, उनका हॉस्पिटल इस साँड़ के कारण ही चलता है…!!

  • in , ,

    व्हिस्की से ज्यादा खतरनाक है चाय

    कल रात ये बात पूरी तरह साबित हो गई की चाय व्हिस्की से बहुत अधिक खतरनाक है।
    हुआ यूं की कल रात मैं बार में बैठा शराब पी रहा था, माहौल बहुत बढ़िया था, कब 7-8 पेग पी गया और कब रात के 12 बज गए पता ही नहीं चला ..

    जब घर पहुंचा तो बीवी 3-4 चाय के कप खाली कर चुकी थी, मेरे घर पहुँचते ही जोर जोर से चिल्लाने लगी और पूरा घर सर पर उठा लिया, पता नहीं क्या-क्या बड़बड़ाये जा रही थी, बिना सोचे समझे जो मुँह में आ रहा था बके जा रही थी, जबकि मैं 7-8 पैग पीने के बाद भी बिलकुल शांत था।

  • in

    दुपहिया वाहन चालक को हेलमेट पहनना अनिवार्य

    सरकार ने फरमान जारी किया

    पुरूष हो या स्त्री
    दुपहिया वाहन चालक को
    हेलमेट पहनना अनिवार्य

    यह खबर सुनकर पत्नी ने
    साडियों वाली अलमारी खोली और बोली :
    हे भगवान ! अब इतने सारे
    मैचिंग हेलमेट खरीदने पड़ेंगे ! ??????

    पति ने घबरा कर एक्टीवा बेच दी ।
    ???
    ????????????

  • in

    पता नहीं बेटी को कितना काम करना पड़ता है

    पत्नियाँ चाहे 95 मिनट तक
    अपनी मम्मी से बात कर लें

    लेकिन अंत मे एक बात ज़रूर बोलती हैं,
    “ठीक है मम्मी …. फ़्री होकर बात करती हुँ”

    और उनकी माँ सोचती हैं
    “पता नहीं बेटी को कितना काम करना पड़ता है,

    बेचारी २ मिनट भी चैन से बात नहीं कर पाती”!!

    Aadesh, Mumbai

Advertisements
Advertisements