Advertisements
Home दुनिया कर्ज के जाल में चीन का नया शिकार मालदीव, कोरोना के बीच...

कर्ज के जाल में चीन का नया शिकार मालदीव, कोरोना के बीच किश्‍त चुकाने को कहा

Advertisements

Edited By Deepak Verma | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

अड़ियल चीन के खिलाफ भारत का बड़ा फैसला
हाइलाइट्स

  • कोरोना महामारी के बीच चीन ने मांगा मालदीव से अपना पैसा
  • सोवरेन गारंटी पर लिया था कर्ज, चीन के एक्जिम बैंक ने कहा, किश्‍त चुकाओ
  • मालदीव ने इनकार किया तो ग्‍लोबली साख गिरेगी, चुकाया तो इकनॉमी डूबेगी
  • चीन ने गरीब देशों में कर्ज बांट कर किया है उन्‍हें अपने इशारों पर नचाने का इंतजाम

माले

कोरोना वायरस महामारी से जूझ रही मालदीव सरकार के सामने एक बड़ा संकट आ गया है। चीन के एक्‍सपोर्ट-इम्‍पोर्ट (एक्जिम) बैंक ने राष्‍ट्रपति इब्राहिम सोलिह की सरकार से कहा है कि वह 10 मिलियन डॉलर की रकम चुकाए। ऑब्‍जर्वर रिसर्च फाउंडेशन के एन साहित्‍य मूर्ति के अनुसार, शायद यह रकम सन ग्रुप को दिए गए 127 मिलियन डॉलर के कर्ज की किश्‍त है जो ‘संप्रभु गांरटी’ के तहत दिया गया था। मालदीव की आर्थिक स्थिति पहले से खस्‍ता है। अगर वह कर्ज चुकाने से मना करता है तो उसकी साख पर बट्टा लगेगा। अगर चुकाता है तो उससे करेंसी की वैल्‍यू गिरेगी और फॉरेन ट्रेड पर असर पड़ेगा।

चीन के जाल में फंस गया मालदीव

आमतौर पर ‘संप्रभु गारंटी’ सरकारों और सरकारी उपक्रमों को ही मिलती है। चीन ने ‘संप्रभु गांरटी’ के तहत कुल 9 बिलियन डॉलर के कर्ज बांट रखे हैं, उनमें से सन ग्रुप को छोड़कर बाकी सब सरकारी उपक्रम हैं। ‘संप्रभु गारंटी’ के तहत डिफॉल्‍ट पर राज्‍य/देश को कर्ज चुकता करना पड़ता है। अगर सोलिह की सरकार कर्ज चुकाने से मना करती है तो इससे ग्‍लोबल क्रेडिट मार्केट्स में मालदीव की साख पर असर पड़ सकता है।

ड्रैगन के लिए लद्दाख में सियाचिन जैसा इंतजाम

टैक्‍स कलेक्‍शन बेहद कम, कहां से चुकाएगा कर्ज

चीन की तरफ से मालदीव को कुल कितना कर्ज दिया गया है, उसका कोई ऑफिशियल डेटा नहीं है। नवंबर 2018 में मालदीव के पूर्व राष्‍ट्रपति मोहम्‍मद नशीद ने कहा था कि ‘मेरे पास जितनी जानकारी है, अकेले चीन का कर्ज 3 बिलियन डॉलर है।” मालदीव साल में 1 बिलियन डॉलर से भी कम टैक्‍स कलेक्‍ट करता है। इसी साल वर्ल्‍ड बैंक की एक रिपोर्ट आई थी जिसमें कहा गया था कि चीन ने मालदीव के लिए कर्ज की किश्‍त कम कर दी है। मालदीव पर टोटल कर्ज का करीब 45 फीसदी चीन का ही है।

Chinese debt trap a 'serious case': Maldives Parliament Speaker Mohd NasheedChinese debt trap a ‘serious case’: Maldives Parliament Speaker Mohd Nasheed

कर्ज के जाल में गरीब देशों को फंसाता है चीन

वर्ल्‍ड बैंक की जून में आई रिपोर्ट के अनुसार, कम आय वाले 68 में से 49 देशों को सबसे ज्‍यादा कर्ज चीन ने दे रखा है। 2018 के आंकड़ों तक उनकी चीन के प्रति कुल 102 बिलियन डॉलर की देनदारी थी। वर्ल्‍ड बैंक ने कहा था कि 68 में से 27 देश ऐसे हैं जो कर्ज की वजह से बेहद परेशानी हैं। आधे से ज्‍यादा देशों में तनाव की वजह चीन था।

देश-दुनिया और आपके शहर की हर खबर अब Telegram पर भी। हमसे जुड़ने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें और पाते रहें हर जरूरी अपडेट।

चीन के 'डेट ट्रैप' में फंसा चीन।

चीन के ‘डेट ट्रैप’ में फंसा चीन।

Source link

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

लोकप्रिय

बिहार: गैर महिला के साथ रंगेहाथ धरा गया युवक, लोगों ने सिर मुंडा और फिर पीटा; वीडियो वायरल

बिहार में पंचायत समिति की सदस्य के पति का सिर मुंड कर उनके साथ मारपीट करने का मामला सामने आया है। यह मामला सुपौल...

अररिया सामूहिक दुष्कर्म मामला: दोनों सामाजिक कार्यकर्ताओं को अंतरिम जमानत

अमर उजाला, नेटवर्क, दिल्ली Updated Wed, 05 Aug 2020 10:15 AM IST पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर कहीं भी, कभी भी। *Yearly subscription for just ₹249 + Free...