Advertisements
Home राज्यवार दिल्ली Noida Bike Boat Scam: ईडी की बड़ी कार्रवाई, संजय भाटी और उसकी...

Noida Bike Boat Scam: ईडी की बड़ी कार्रवाई, संजय भाटी और उसकी कंपनी की 104 करोड़ की संपत्ति सीज

Advertisements

Edited By Sujeet Upadhyay | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

हाइलाइट्स

  • ईडी ने बाइक बोट घोटाले के मास्टरमाइंड संजय भाटी पर शुरू किया शिकंजा
  • ईडी ने संजय भाटी और उसकी कंपनी की 104 करोड़ की संपत्ति की सीज
  • नोएडा, गाजियाबाद, बुलंदशहर, कानपुर और इंदौर की 19 संपत्ति सीज, दूसरे लोगों के नाम खरीदी गई 7 संपत्ति भी सीज
  • संजय भाटी और उसकी गर्वित इन्नोवेटिव के नाम 26 कीमती प्लाट फ्लैट को भी प्रवर्तन निदेशालय ने किया सीज

नोएडा

नोएडा के बहुचर्चित बाइक बोट घोटाले (Bike Boat Scam) में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बड़ी कार्रवाई की है। ईडी ने कंपनी के मालिक संजय भाटी और उसकी कंपनी की 104 करोड़ की संपत्ति को सोमवार को सीज कर दिया। ईडी ने नोएडा, गाजियाबाद, बुलंदशहर, कानपुर और इंदौर की 19 संपत्ति सीज की है। इसके अलावा दूसरे लोगों के नाम से खरीदी गई 7 संपत्ति भी सीज की गई है।

ईडी ने बाइक बोट घोटाले के मास्टरमाइंड संजय भाटी पर शिकंजा शुरू किया है। जानकारी के मुताबिक, ईडी ने सोमवार को संजय भाटी और उसकी कंपनी की 104 करोड़ की संपत्ति सीज की। इसमें नोएडा, गाजियाबाद, बुलंदशहर, कानपुर और इंदौर की 19 संपत्तियां सीज की गई। संजय भाटी और उसकी गर्वित इन्नोवेटिव के नाम 26 कीमती प्लाट फ्लैट को भी ईडी ने सीज कर दिया। इसके अलावा संजय भाटी के 22 बैंक खातों को भी सीज किया गया है।

नोएडा कोऑपरेटिव बैंक से भी बड़े पैमाने पर धांधली पकड़ी

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कुल 101.45 करोड़ के मकान, फ़्लैट, प्लाट और बैंक में जमा 2.28 करोड़ सीज किए हैं। बताया गया कि ईडी ने बाइक बोट घोटाले में 12 जगहों पर छापेमारी कर बेनामी संपत्ति के दस्तावेज जुटाए। इस दौरान नोएडा कोऑपरेटिव बैंक से भी बड़े पैमाने पर धांधली पकड़ी गई। यहां बैंक कर्मियों की मिलीभगत से संजय भाटी ने मनी लॉन्ड्रिंग का खुला खेल किया।

कैसे हुई ठगी?

करोड़ों की ठगी करने वाला संजय भाटी दनकौर के पास स्थित चीती गांव का रहने वाला है। उसके पिता यूपी पुलिस के रिटायर दारोगा हैं। दूसरी जाति की लड़की से लव मैरिज के कारण संजय को उसके पिता ने अपनी संपत्ति से बेदखल कर दिया था। वर्ष 1998 में काशीपुर से कैमिकल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा कर चुके संजय ने जनवरी 2010 में गर्वित इनोवेटिव प्रमोटर्स लिमिटेड कंपनी खोली थी। वर्ष 2017 में बाइक बोट के नाम से स्कीम शुरू की। इसमें एक बाइक पर 62100 रुपये निवेश करने पर एक साल में 1 लाख 17 हजार 180 रुपये मासिक किस्तों में लौटाए जाने की योजना थी।

बाइक बोट स्कैम: पांच जिलों से 178 बाइक्स बरामदबाइक बोट स्कैम: पांच जिलों से 178 बाइक्स बरामद

कई राज्यों के लोगों ने किया निवेश

बाइक बोट स्कीम लॉन्च होने के कुछ ही दिनों में यूपी के विभिन्न जिलों से होती हुई राजस्थान, गुड़गांव, रोहतक, पानीपत, पंजाब, मध्य प्रदेश, इंदौर, महाराष्ट्र और उत्तराखंड तक फैल गई। कंपनी में 2 लाख 25 हजार से अधिक निवेशक फंसे हुए हैं। अब तक 1500 करोड रुपये से अधिक का फ्रॉड सामने आ चुका है।

Source link

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

लोकप्रिय

बलात्संग क्या है, यदि अपराध अधूरा रह गया तो रेप माना जाएगा या नहीं, यहां पढ़िए – ASK IPC

आज हम जिस अपराध की बात कर रहे हैं वह हमारे देश में कोरोना वायरस की बीमारी की तरह फैल रहा है। इस अपराध...

खुशखबरी: नवादा-बिहारशरीफ के बीच बनेगा नया रेल लाइन… जानिए कहां कहां बनेगा स्टेशन

नवादा- नालंदा और पटना वासियों के लिए खुशखबरी है. क्योंकि नवादा से पटना जाने के लिए ट्रेन बदलने की जरूरत...