Advertisements
Home विज्ञान नियोवाइस धूमकेतु: धरती से लेकर स्पेस तक कुछ यूं देखा गया नज़ारा

नियोवाइस धूमकेतु: धरती से लेकर स्पेस तक कुछ यूं देखा गया नज़ारा

Advertisements

इमेज कॉपीरइट
Getty Images

Image caption

11 जुलाई को सूर्यास्त के बाद धूमकेतु नियोवाइस इटली के मोलोफेट बंदरगाह के आसमान में चमकता देखा गया. ये धूमकेतु 23 जुलाई को धरती के सबसे नज़दीक से गुज़रेगा.

इस वक़्त दुनिया एक दुर्लभ खगोलीय घटना की गवाह बन रही है. दुनियाभर के स्टारगेजर्स एक शानदार धूमकेतु को देख रहे हैं.

धूमकेतु नियोवाइस को सबसे पहले मार्च के आख़िर में देखा गया था और ये 21वीं सदी के उन चंद धूमकेतु में से एक बन गया है ,जिन्हें सूरज की ओर बढ़ते समय नंगी आंखों देखा जा सकता है.

ये धूमकेतु 23 जुलाई को धरती के सबसे नज़दीक होगा, लेकिन फिर भी ये क़रीब 103 मीलियन किलोमीटर दूर होगा.

नीचे कुछ ऐसी जगहों का ज़िक्र है, जहां के लोग इस अनोखी खगोलीय घटना के साझी बन चुके हैं. यानी उनके यहां ये धूमकेतु देखा जा चुका है.

इमेज कॉपीरइट
Getty Images

Image caption

13 जुलाई 2020 को धूमकेतु नियोवाइस इंग्लैंड के सॉल्टबर्न बाय द सी में रात के वक़्त सॉल्टबर्न पियर के आसमान में देखा गया.

ये तस्वीर ब्रिटेन के सॉल्टबर्न पियर में रात के समय ली गई थी.

धूमकेतु सूर्योदय से पहले और सूर्यास्त के बाद उत्तरी गोलार्ध के मिड-लेटिट्यूड में दिखाई देता है – यानी यूरोप, अमरीका और कनाडा में.

ज़िंदगी में एक बार देखी जाने वाली खगोलीय घटना

इमेज कॉपीरइट
Getty Images

Image caption

धूमकेतु नियोवाइस रात के समय रूस के रियाज़ान मठ स्थित एपीफेनी चर्च के आसमना में देखा गया.

ब्रिटेन के अलावा कई दूसरे देशों के लोगों ने इस धूमकेतु को देखने का आनंद उठाया.

ये तस्वीर तब खींची गई जब नियोवाइस रूस की एक चर्च के ऊपर चमक रहा था.

ये बेहद दुर्लभ खगोलीय घटना इसलिए भी है, क्योंकि इसके बाद ये धूमकेतु अगले 6,800 साल तक दोबारा धरती से नहीं गुज़रेगा. इसलिए इस ग्रह पर रहने वाले लोगों के लिए ये जीवन में एक बार देखी जाने वाली अनोखी घटना है.

आसानी से देखा जा सकता है

इमेज कॉपीरइट
Getty Images

Image caption

11 जुलाई को नियोवाइस धूमकेतु इटली की लैकविला शहर में सांता मारिया डेला पिएता चर्च के ऊपर चमकता देखा गया.

ये तस्वीर तब ली गई जब धुमकेतू इटली स्थित इस चर्च के ऊपर था.

तस्वीरों में धूमकेतु नियोवाइस एक धारी की तरह दिखाई देता है. लेकिन अगर आप इस तस्वीर को देखेंगे तो ये ठहरा हुआ सा नज़र आएगा, क्योंकि वो अंतरिक्ष में यहां से दूर निकल चुका है.

23 जुलाई को, धूमकेतु चंद्रमा से 400 गुना अधिक दूरी पर होगा.

लेकिन फिर भी आपको इसे देखने के लिए दूरबीन या टेलिस्कोप की ज़रूरत नहीं होगी, हालांकि और साफ देखने के लिए आप इनका इस्तेमाल कर भी सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट
Getty Images

Image caption

धूमकेतु नियोवाइस को 12 जुलाई को तुर्की के वान में देखा गया.

यहां धूमकेतु को तुर्की के वान प्रांत में देखा गया.

धूमकेतु में पत्थर, बर्फ और गैस के बने हुए छोटे-छोटे खण्ड होते है.

सूरज की गर्मी से बर्फ पिघलती है, जिससे गैस निकलती है. इसकी वजह से धरती से हमें धूमकेतु में एक पूंछ नज़र आती है.

मार्च में खोजा गया

इमेज कॉपीरइट
Getty Images

Image caption

9 जुलाई को स्पेन के कैटेलोनिया स्थित बार्सिलोना के नज़दीक मूनसराट के पहाड़ों में देखा गया.

धूमकेतु नियोवाइस को नासा की सैटेलाइट नियोवाइस ने मार्च के अंत में खोजा था.

हाल में ये सूरज के काफी नज़दीक पहुंच गया था, लेकिन फिर भी बच गया. और अब ये बाहरी सौर मंडल की ओर वापस जा रहा है.

ऊपर की तस्वीर में इसे स्पेन के बार्सिलोना में देखा जा सकता है.

एक झलक देखने के लिए सबसे अच्छा समय

इमेज कॉपीरइट
Getty Images

Image caption

9 जुलाई को चीन में हेइलोंगजियांग प्रांत के हार्बिन शहर में इसे देखा गया.

दुनिया भर में लोग इस अविश्वसनीय घटना का आनंद ले रहे हैं. ये तस्वीर चीन में हेइलोंगजियांग प्रांत के हार्बिन शहर में ली गई.

जुलाई के दौरान, धूमकेतु पश्चिम की ओर आसमान में चला जाएगा.

महीने के मध्य से इसे पूरी रात देखा जा सकेगा. लेकिन इसे हमेशा उत्तरी दिशा में नीचे की ओर देखा जा सकेगा.

फिर ये गायब हो जाएगा, क्योंकि ये सौर मंडल में बहुत अंदर यात्रा करता है.

आउटर स्पेस से नज़ारा

इमेज कॉपीरइट
NASA

Image caption

धूमकेतु की इस चमक को पांच जुलाई को अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन के पूर्वी क्षितिज से तस्वीर में कैद किया गया था.

समझा जा रहा है कि धूमकेतु अंतरिक्ष में घूम रहा है, इसलिए आप उसे धरती के ऊपर से और साथ में ग्रह की सतह से भी देख सकते हैं.

ये तस्वीर अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन से ली गई थी.

कॉस्मोनॉट्स इवान वैगनर ने धूमकेतु नियोवाइस को वर्णित करते हुए कहा था कि “ये पिछले सात साल में दिखा सबसे चमकीला धूमकेतु है. इसकी पूंछ स्पेस स्टेशन से एकदम साफ दिख रही थी.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)



Source link

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

लोकप्रिय

कुछ पर पार्टी का दारोमदार है, कुछ अपनी विरासत बचाने में लगे हैं, तो कोई सीधे मुख्यमंत्री को चुनौती दे रहा है

पटना38 मिनट पहलेकॉपी लिंकपुष्पम प्रिया ने खुद को सीएम कैंडिडेट डिक्लेयर किया है, वो बिहार के सभी 38 जिलों का दौरा कर चुकी हैंकम...