Advertisements
Home मनोरंजन सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस: शेखर सुमन बोले- क्या सबूतों को मिटाने...

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस: शेखर सुमन बोले- क्या सबूतों को मिटाने के बाद CBI को सौंपी जाएगी जांच

Advertisements
सुशांत सिंह राजपूत और शेखर सुमन.

बॉलीवुड और टीवी एक्टर शेखर सुमन (Shekhar Suman) ने सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस (Sushant Singh Rajput Suicide Case) को सीबीआई (CBI) को सौंपने में देरी पर अपनी निराशा जाहिर की है.

बॉलीवुड और टीवी एक्टर शेखर सुमन (Shekhar Suman) ने सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस (Sushant Singh Rajput Suicide Case) को सीबीआई (CBI) को सौंपने में देरी पर अपनी निराशा जाहिर की है. उन्होंने आशंका जताई है कि जब तक सीबीआई को इस मामले की जांच सौंपी जाएगी, तब तक कथित दोषी सबूतों से छेड़छाड़ कर लेंगे या सबूतों को मिटा देंगे.

उन्होंने देरी पर सवाल उठाते हुए रविवार को ट्विटर पर लिखा है कि, ‘मुझे लगता है कि जब तक इस मामले को सीबीआई को सौंपा जाएगा, तब तक कथित दोषी सभी सबूतों से छेड़छाड़ कर लेंगे या सबूतों को हटा देंगे. कथित दोषी सबूतों को मिटा भी देंगे जैसा कि फिल्मों या अपराध उपन्यासों में होता है. उसके बाद सीबीआई के पास देखने के लिए कुछ भी नहीं होगा.

शेखर ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि, ‘हम सभी सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस की सीबीआई जांच का इंतजार कर रहे हैं. उन्होंने सवाल किया है कि, आखिर इसमें देरी किस बात की है? आप सभी किस बात का इंतजार कर रहे हैं? एक और शख्स की जिंदगी के समाप्त होने का इंतजार कर रहे हैं? एक सुसाइड का मामला दो दिनों में बंद हो जाता है. इस मामले में पिछले 34 दिनों से जांच चल रही है. इससे स्पष्ट होता है कि यह मामला जितना दिख रहा है, उससे कहीं बहुत अधिक है.’

उनके एक्टर बेटे अध्ययन सुमन ने भी इस मामले में अपनी पूर्व प्रेमिका कंगना रनौत को समर्थन दिया है, जो काई पो चे फेम एक्टर की मौत की विस्तृत जांच की मांग कर रही हैं और उन्होंने चल रही जांच को एक दिखावा बताया है. अध्ययन ने ट्वीट किया है, ‘कभी-कभी अपने अतीत को एक तरफ छोड़ना अहमियत रखता है! यह इंपॉर्टेंट है क्योंकि हम मनुष्य के रूप में जीवन जी रहे हैं! मैं सिर्फ एक आवाज का समर्थन कर रहा हूं, मुझे लगता है कि हम सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस की सीबीआई जांच के लिए एक-एक कदम आगे बढ़ेंगे. नहीं, मेरा इसमें कोई एजेंडा नहीं है और मेरी कोई फ़िल्म रिलीज़ होने नहीं जा रही है!’



Source link

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

लोकप्रिय

आयातकों को 21 सितंबर से एफटीए के तहत शुल्क लाभ के लिये जांच-परख करनी होगी: वित्त मंत्रालय

डिसक्लेमर:यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।भाषा | Updated: 19 Sep 2020,...