Advertisements
Home खेल वीरेंदर सहवाग ने जो असर डाला उसका कोई मुकाबला नहीं: गौतम गंभीर

वीरेंदर सहवाग ने जो असर डाला उसका कोई मुकाबला नहीं: गौतम गंभीर

Advertisements

Edited By Bharat Malhotra | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

गंभीर बोले, जो असर सहवाग ने डाला उसका कोई मुकाबला नहीं

नई दिल्ली

भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर का कहना है कि प्रारूप चाहे जो भी हो टॉप ऑर्डर में वीरेंदर सहवाग ने जो प्रभाव पैदा किया उसका कोई मुकाबला नहीं है। गंभीर ने यह भी कहा कि एक बल्लेबाज के रूप में कोई भी सहवाग की मानसिकता की नकल नहीं कर सकता।

गौतम गंभीर और इरफान पठान ने भारतीय क्रिकेट पर वीरेंदर सहवाग के असर के बारे में अपनी राय साझा की। ये दोनों पूर्व क्रिकेट स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम क्रिकेट कनेक्टेड में बात कर रहे थे।

गंभीर से जब पूछा गया कि यह कैसे तय होता था कि पहली गेंद कौन खेलेगा तो उन्होंने इसका जवाब दिया कि हमेशा पहली गेंद वही खेलते थे क्योंकि सहवाग की प्रतिक्रिया होती थी वह जैनुअन ओपनर नहीं हैं।

गंभीर ने कहा, ‘वीरेंदर सहवाग कहते थे कि वह एक सलामी बल्लेबाज नहीं हैं। तो जो भी ओपनर है उसे पहली गेंद खेलनी चाहिए। वह अपने आप को सलामी बल्लेबाज नहीं मानते थे हालांकि उनके नाम दो तिहरे शतक थे, मुझे नहीं पता उन्होंने कितने शतक जमाए। शायद सुनील गावसकर के बाद वह सबसे कामयाब भारतीय सलामी बल्लेबाज हैं लेकिन उन्होंने खुद को कभी ओपनर नहीं माना। तो हमेशा मुझे ही पहली गेंद खेलनी पड़ती थी।’

बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने बताया कि वह और सहवाग जब बल्लेबाजी करते थे तो क्रिकेट छोड़कर सब तरह की बातें किया करते थे। फिर चाहे वे लंच या डिनर की बातें हों या फिर विदेश में घूमने की जगह पर चर्चा।

गंभीर ने कहा, ‘सहवाग के माइंडसेट की कॉपी नहीं की जा सकती। कभी नहीं। कई लोग रन बना सकते हैं लेकिन सहवाग के रनों का प्रभाव काफी अहम है। वह किस तरह टेस्ट मैच को सेटअप किया करते थे।’

गंभीर ने चेन्नै के उस टेस्ट मैच का भी जिक्र किया जिसमें भारत को इंग्लैंड के खिलाफ चौथी पारी में 387 रनों का लक्ष्य हासिल करना था।

गंभीर ने याद दिलाया कि उस टेस्ट में सहवाग मैन ऑफ द मैच रहे थे। सहवाग ने 68 गेंद पर 83 रन बनाकर भारत को तेज शुरुआत दी थी। हालांकि सचिन तेंडुलकर ने उस मुकाबले में शतक लगाया था और युवराज सिंह ने 85 रन बनाए थे।

गंभीर ने आखिर में कहा कि किसी भी प्रारूप में अगर प्रभाव के लिहाज से देखा जाए तो वीरेंदर सहवाग का कोई मुकाबला नहीं है।

Source link

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

लोकप्रिय

महाराष्ट्र सरकार को हटाकर राष्ट्रपति शासन लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका

{"_id":"5f6bcb702dbcee5b121ad5a6","slug":"petition-filed-in-supreme-court-to-remove-uddhav-thackeray-government-and-impose-presidents-rule-in-maharashtra","type":"story","status":"publish","title_hn":"u092eu0939u093eu0930u093eu0937u094du091fu094du0930 u0938u0930u0915u093eu0930 u0915u094b u0939u091fu093eu0915u0930 u0930u093eu0937u094du091fu094du0930u092au0924u093f u0936u093eu0938u0928 u0932u0917u093eu0928u0947 u0915u0947 u0932u093fu090f u0938u0941u092au094du0930u0940u092e u0915u094bu0930u094du091f u092eu0947u0902 u0926u093eu092fu0930 u092fu093eu091au093fu0915u093e","category":{"title":"India News","title_hn":"u0926u0947u0936","slug":"india-news"}} ...