Advertisements
Home बड़ी खबरें भारत Amit Shah Interview : चिराग पासवान, सुशांत, बंगाल, कृष्ण जन्मभूमि... गृह मंत्री...

Amit Shah Interview : चिराग पासवान, सुशांत, बंगाल, कृष्ण जन्मभूमि… गृह मंत्री अमित शाह के इंटरव्यू की 10 बड़ी बातें

Advertisements
नई दिल्ली
देश के गृह मंत्री अमित शाह के बेबाक अंदाज से हर कोई वाकिफ है। किसी भी मुद्दे पर बड़ी सफाई से जवाब देने में शाह का मुकाबला कोई नहीं कर सकता। अमित शाह ने एक इंटरव्यू के दौरान बिहार चुनाव, पश्चिम बंगाल सरकार, आर्टिकल 370 सहित तमाम मुद्दों पर अपनी राय रखी। अमित शाह ने पश्चिम बंगाल सरकार को आड़े हाथों लिया। नीचे पॉइंट में पढ़िए अमित शाह के इंटरव्यू की 10 बड़ी बातें…

1- बंगाल पर अमित शाह
अमित शाह का कहना है कि बंगाल में कानून व्यवस्था बिल्कुल चरमराई हुई है और सरकार कोई ध्यान नहीं दे रही। उन्होंने कहा कि यहां पर विपक्षी नेताओं को मारा जा रहा है और लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। पं बंगाल में अम्फान तूफान आया कोई ढंग की व्यवस्था नहीं की गई। अनाप-शनाप बजट घोटालों में चला गया। केंद्र की ओर से जो अनाज भेजा गया वो भी घोटालों की भेंट चढ़ गया। कोरोना के लिए भी जिस प्रकार के बंदोबस्त होने चाहिए थे वो नहीं हुए।’

अमित शाह से एक सवाल पूछा गया कि बंगाल (Amit Shah On Bengal Election) बीजेपी के नेता लगातार राज्य में राष्ट्रपति शासन की मांग करते हैं आप इस बारे में क्या सोचते हैं इस सवाल के जवाब में शाह ने कहा कि पॉलिटिकल पार्टी के नेता जो वहां पर काम कर रहे हैं स्थिति के हिसाब से उनकी मांग वाजिब है। उन्होंने कहा कि वहां के हालात को अगर देखा जाए तो उनकी मांग सही है।

बिहार चुनाव में उछला Article 370 का मुद्दा, चिदंबरम के एक बयान ने दे दिया मौका

2- सुशांत केस पर शाह का जवाब
गृह मंत्री अमित शाह ने सुशांत मामले पर भी टिप्पणी की है। शाह ने कहा कि मुझे नहीं मालूम कि जमीनी स्‍तर पर यह केस कितना चुनावी मुद्दा बना है। लेकिन अगर बना है तो हम इसे पहले सीबीआई को दे देते तो यह मुद्दा नहीं बनता। यह आदेश सुप्रीम कोर्ट का आदेश है। सुशांत सिंह जी की जगह कोई भी व्‍यक्ति होता तो उसकी जांच ढंग से होनी चाहिए, न्‍यायिक होनी चाहिए। मैं कोई टिप्‍पणी नहीं करना चाहता। लेकिन परसेप्‍शन ठीक नहीं बना था।

3- मीडिया ट्रायल पर क्या बोले शाह
सुशांत सिंह राजपूत पर अमित शाह (Amit Shah On Sushant Rajput Case) ने कहा कि मीडिया ट्रायल नहीं होना चाहिए। कहीं ज्‍यादा लापरवाही लीपापोती हो तो सरकार की नाक जरूर पकड़ना चाहिए। लेकिन टीआरपी के लिए बात को बढ़ाना उचित नहीं है। किसी भी घटना में अगर लीपापोती होती है तो उसे बताना मीडिया का धर्म है। बॉलीवुड में ड्रग्‍स पर उन्होंने कहा कि ड्रग्‍स एक खतरनाक नासूर है, इसे जल्‍दी समाप्‍त कर देना चाहिए। ड्रग्‍स का कारोबार भारत में करने वालों को बहुत दिक्‍कत आएगी, इस तरह का ढांचागत बदलाव, कानूनी बदलाव और इंफ्राट्रक्‍चर बदलाव हम कर रहे हैं।

amit shah interview : गृह मंत्री अमित शाह का बड़ा बयान, बंगाल में राष्ट्रपति शासन की मांग गलत नहीं

4- मथुरा कृष्ण जन्मभूमि पर शाह का जवाब
मथुरा मंदिर मामले पर अमित शाह (Amit Shah On Mathura Krishna Janm Bhumi) ने कहा क‍ि इस पर हमारे पार्टी का कोई रोल नहीं है। हम इसपर टिप्‍पणी नहीं करेंगे। राम जन्‍मभूमि हमारा एजेंडा था। अभी जो संगठन गए हैं वह स्‍वत: गए हैं। गौरतलब है कि कृष्ण जन्मभूमि मामले में कुछ संगठनों ने अदालत का रुख किया था, उसके बाद इस पर राजनीति भी शुरू हो गई थी।

5- चीन का जिक्र कर कांग्रेस पर बरसे शाह
चीन को लेकर शाह ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Amit Shah On Rahul Gandhi and Congress) पर हमला बोला। उन्होंने कहा चीन को लेकर राहुल गांधी के बयानों पर शाह ने कहा क‍ि उनके पास न कोई डेटा होता है और न ही कोई आंकड़ा। बिना सिर और धड़ की बातें करते हैं। कम से कम कांग्रेस को ये बोलने का अधिकार नहीं है। उनके समय में चीन ने भारत की कितनी जमीन हड़प ली है। इसका हिसाब एक बार राहुल जी देश की जनता के सामने रखें। मैं 1962 की बात कर रहा हूं। कांग्रेस की सरकार थी। उनके परनाना ही प्रधानमंत्री थे।

6- बिहार चुनाव पर शाह ने लगाया ‘फुल स्टॉप’
बिहार विधानसभा चुनावों में बीजेपी और जेडीयू (Amit Shah On Bihar Election 2020) के बीच आई दरार की अटकलों पर गृह मंत्री अमित शाह ने पूर्ण विराम लगा दिया है। बिहार चुनाव पर प्रतिक्रिया देते हुए अमित शाह ने शनिवार को कहा, ‘जो कोई भी भ्रांतियां फैलाने का प्रयास कर रहा है। मैं आज इस पर बड़ा फुल स्‍टॉप लगाना चाहता हूं। नीतीश कुमार ही बिहार के अगले मुख्‍यमंत्री होंगे।’ शाह ने कहा कि देश के साथ-साथ बिहार में भी मोदी लहर है और इससे गठबंधन सहयोगियों को समान रूप से मदद मिलेगी। शाह ने कहा, नीतीश हमारे पुराने साथी हैं, गठबंधन तोड़ने का कोई कारण नहीं है।

बिहार चुनाव: चिराग पासवान पर अमित शाह ने तोड़ी चुप्पी, कहा- BJP और JDU ने LJP को ऑफर की थीं उचित सीटें

7- चीन पर दो टूक, हमारी सेनाएं सक्षम हैं
अमित शाह (Amit Shah On China) ने कहा कि सेनाएं अतिक्रमण का जवाब देने के लिए ही बनी हैं। हमारी सेनाएं वैसे ही तैयार रहती हैं। पाक चीन के तालमेल पर अमित शाह ने कहा कि हमारी सेनाएं सक्षम हैं। इरादे बुलंद हैं। 130 करोड़ के भारत को कोई दबा नहीं सकता। सत्‍य हमारे साथ है दुनिया हमारे साथ है। अब हमें दबाना इतना आसान नहीं है। क्‍या चीन हमारी सीमा में घुस आया है, इस सवाल पर अमित शाह ने कहा कि देखिए दोनों सेनाओं में बात हो रही है। दोनों देश के डिप्‍लोमेट भी बात कर रहे हैं। हम अपनी एक एक इंच जमीन को लेकर जागरूक हैं और इसको कोई छीन नहीं सकता।

8- आर्टिकल 370 पर खरी-खरी
अमित शाह ने कहा कि चिदंबरम के स्‍टेटमेंट को राहुल जी को और सोनिया जी को दोहराना चाहिए। जम्‍मू कश्‍मीर को पूर्ण राज्‍य का दर्जा देने पर काम चल रहा है। विकास के साथ ही इसे भी देखा जा रहा है। दरअसल बिहार चुनाव में धारा 370 (Amit Shah On Article 370) का मुद्दा काफी गरमा रहा है। पी चिदंबरम ने एक बयान में कहा था कि मोदी सरकार के 5 अगस्त 2019 के असंवैधानिक फैसले को रद्द किया जाना चाहिए। चिदंबरम ने अनुच्छेद 370 (Article 370 And Bihar Election) हटाने को गलत करार देते हुए ट्वीट किया कि ‘जम्मू-कश्मीर की मुख्यधारा की क्षेत्रीय पार्टियों का जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के लोगों के अधिकारों को बहाल करने के लिए संवैधानिक लड़ाई लड़ने के लिए एक साथ आना ऐसा घटनाक्रम है, जिसका सभी लोगों द्वारा स्वागत किया जाना चाहिए।’

9- विकास पर क्या बोले शाह
अमित‍ शाह ने कहा कि केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार बनने के बाद 6 साल के अंदर बिहार के हर घर में बिजली, शौचालय, गैस चूल्‍हा पहुंचाया गया है। ढेर सारी सुविधाएं बीजेपी की सरकार ने किया है। 1.25 लाख करोड़ का पैकेज दिया था. हम इस पैकेज के पाई पाई का हिसाब देने को तैयार हैं।

10- LJP को लेकर शाह का बड़ा बयान
आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में लोक जनशक्ति पार्टी (Amit Shah On Bihar Election And LJP seat Conflict) के गठबंधन से अलग चुनाव लड़ने को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि चिराग पासवान की अगुवाई वाली एलजेपी ने अकेले जाने का फैसला किया है। हालांकि चुनाव साथ लड़ने के लिए उन्‍हें उचित संख्या में सीटों की पेशकश की गई और बातचीत के कई प्रयास भी किए गए। जहां तक बीजेपी-जेडीयू-एलजेपी के गठबंधन का सवाल है, बीजेपी और जेडीयू दोनों की ओर से एलजेपी को उचित संख्या में बार-बार सीटों की पेशकश की गई। इस बाबत कई बार बातचीत भी हुई। मैंने व्यक्तिगत रूप से कई बार चिराग से बात की।”

Source link

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

लोकप्रिय