Advertisements
Home क्राइम कोतवाली पुलिस का खुलासा: रिटायर्ड लाइब्रेरियन से महिला बन की दोस्ती, फिर...

कोतवाली पुलिस का खुलासा: रिटायर्ड लाइब्रेरियन से महिला बन की दोस्ती, फिर एसओजी सीआई बनकर की ब्लैकमेलिंग, पी… – Dainik Bhaskar

Advertisements

श्रीगंगानगर4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • चैटिंग के बाद सेक्स रैकेट में फंसाने की धमकी दे प्रेमिका के खाते में डलवाए 2.5 लाख, वह भी गिरफ्तार

साेशल मीडिया पर चैटिंग के जरिए जाल में फंसाकर सेवानिवृत्त कर्मचारी काे ब्लैकमेल करने तथा आत्महत्या काे मजबूर करने के मामले में कोतवाली पुलिस ने शातिर आरोपी व उसके साथ रह रही एक महिला काे गिरफ्तार किया है। खुदकुशी की घटना 9 जुलाई काे महाराजा जस्सासिंह मार्ग पर बसंती चाैक के निकट आवास में हुई थी।

मृतक सेवानिवृत्त लाइब्रेरियन 61 वर्षीय राधेश्याम चारण के बेटे राजेंद्र चारण ने काेतवाली थाने में 13 जुलाई काे जयपुर निवासी पायल गुप्ता, करणसिंह राजपूत और एसओजी के सीआई सुधीर त्यागी पर ब्लैकमेल करने के आराेप में मुकदमा दर्ज करवाया था। मामले में काेतवाली पुलिस ने आराेपियाें के जयपुर में छुपे हाेने की आशंका के तहत टीम गठित कर तलाश की।

पुलिस ने पंचायती कुएं के नजदीक रेलवे स्टेशन लाखेरी जिला बूंदी व हाल ए-802 ग्राण्ड विस्टास अपार्टमेंट, सिरसा रोड, जयपुर से ललित बैरवा पुत्र लक्ष्मीनारायण व ज्योति शर्मा पुत्री कन्हैया लाल जाति बह्रामण उम्र 31 साल निवासी मलहारगढ़ जिला मन्दसौर मध्यप्रदेश जाे उसके साथ लिव इन रिलेशन में रह रही काे हिरासत में लिया गया।

जिस माेबाइल फाेन से लाइब्रेरियन राधेश्याम चारण से साेशल मीडिया पर चैटिंग की जाती थी, वे दाे फाेन आराेपी से बरामद हाे गए हैं। पुलिस ने दाेनाें काे शनिवार देर शाम श्रीगंगानगर लाकर गिरफ्तार कर लिया। दाेनाें आराेपियाें काे रविवार काे अदालत में पेश किया गया।

पड़ताल…ललित बैरवा चलाता था तीन वाट्सएप अकाउंट, एक पायल, दूसरा करणसिंह ताे तीसरा एसओजी सीआई के नाम से 

काेतवाल गजेंद्र जाेधा ने बताया कि लाइब्रेरियन राधेश्याम चारण से फरवरी में पायल गुप्ता नाम की महिला वाट्सअप चेटिंग शुरू करती है। वह पूरी तरह से विश्वास जीतने के बाद अपने दाेस्त हाेटल काराेबारी करणसिंह राजपूत से चैटिंग शुरू करवा देती है। करणसिंह खुद काे बहुत बड़ा काराेबारी और धनाढ्य प्रदर्शित करता है और अपने काराेबार में साझेदार बनाने का प्रलाेभन देता है।

अचानक एसओजी सीआई सुधीर त्यागी का किरदार सामने आता है। तीसरे नंबर से वाट्सअप काॅल कर लाइबरेरियन राधेश्याम चारण काे डराया और धमकाया जाता है कि पायल गुप्ता और हाेटल काराेबारी करणसिंह राजपूत काे एसओजी ने सेक्स स्कैंडल में गिरफ़्तार किया है। इन दाेनाें के फाेन से लाइब्रेरियन से वाट्सअप पर काफी चैटिंग हुई हैं। अगर वह खुद काे बचाना चाहता है ताे पांच लाख रुपए दे। नहीं ताे सेक्स स्कैंडल में फंसाकर बदनाम करते हुए गिरफ्तार किया जाएगा।

जांच में सामने आया कि लाइब्रेरियन राधेश्याम चारण के फाेन में जिन तीन वाट्सएप अकाउंट से चैटिंग हाे रही थी, वे तीनाें एक ही टावर लाेकेशन से एक ही डिवाइस से ऑपरेट हाे रहे थे। आराेपी काे पकड़ा ताे उसके पास बरामद फाेन में पायल गुप्ता, फाइव स्टार हाेटल संचालक करणसिंह राजपूत और एसओजी के सीआई सुधीर त्यागी के नाम से बनाए गए फर्जी अकाउंट मिल गए। आराेपी तीनाें अकाउंट अपने नाम से जारी तीन अलग-अलग सिमकार्ड काे एक ही फाेन में डालकर इस्तेमाल करता था।

उसने फरवरी 2020 में सबसे पहले पायल गुप्ता के नाम से वाट्सएप पर लाइब्रेरियन राधेश्याम चारण से संपर्क किया। चैटिंग के जरिए दाेस्ती हाेने पर उसने हाेटल काराेबारी करणसिंह के नाम से दूसरे वाट्सअप अकाउंट से मिलवाया। अब वह खुद ही करणसिंह राजपूत बनकर चैटिंग करने लगा। मई और जून में उसने तीसरी पहचान एसओजी के सीआई सुधीर त्यागी के नाम से लाइब्रेरियन से संपर्क किया।

पहले 7 और  9 जुलाई काे लाइब्रेरियन ने पीड़ा लिखी और फिर दे दी जान

परिवादी राजेंद्र चारण ने काेतवाली काे दी रिपाेर्ट में बताया कि उसके पिता ने मरने से पहले अखबार पर लिखा था कि अलमारी में बैग पड़ा है। उसमें पांच हजार रुपए हैं। तीन दिन बाद जब अलमारी से बैग काे संभाला ताे उसमें दाे सुसाइड नाेट मिले। पहला 7 जुलाई काे और दूसरा 9 काे लिखा हुआ था।

इस पर पुलिस काे सूचित किया। पुलिस ने सुसाइड नाेट व मृतक का माेबाइल फाेन बरामद किया। उस दिन भी एसओजी के सीआई सुधीर त्यागी के नाम से रक्षित किए नंबर से वाट्सएप काॅल आ रही थीं। आराेपी वाट्सएप काॅल पर धमका रहा था और रुपए मांग रहा था। जबकि उसे पता भी नहीं था कि राधेश्याम चारण ने उसी से तंग आकर जान दे दी है।

एसपी राजन दुष्यंत ने बताया कि मामले में एसओजी का नाम इस्तेमाल किया जा रहा था। इसलिए हमने पूरी सावधानी से इस रैकेट तक पहुंचने की याेजना बनाई। काेतवाली थाना से एसआई सुरजीतकुमार, कांस्टेबल मनफूलराम, साइबर एक्सपर्ट चंद्रप्रकाश शर्मा ने पहले फील्ड वर्क किया।

इसके बाद इसी टीम ने महिला कांस्टेबल सारदा काे साथ लेकर जयपुर में आराेपियाें काे पकड़ा। आराेपियाें से डरे हुए राधेश्याम चारण ने इस बारे में परिवार व पुलिस काे नहीं बताते हुए आराेपी के खाते में ढाई लाख रुपए डलवा दिए थे। रुपयाें की डिमांड बढ़ती गई तब उसने परेशान हाेकर 9 जुलाई की रात काे सुसाइड कर लिया। आराेपी पर कई थानाें में दर्जनाें मुकदमे दर्ज हैं। वह शातिर अपराधी है।

0

Source link

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

लोकप्रिय

PM नरेंद्र मोदी के बधाई ट्वीट पर विराट कोहली और अनुष्का शर्मा ने ऐसे दिया जवाब

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 17 सितंबर को अपना 70वां जन्मदिन मनाया। इस दौरान सोशल मीडिया के जरिए दुनिया की तमाम दिग्गज हस्तियों ने...

सुशांत केस में सलमान सहित आठ हस्तियों को नोटिस और कंगना रणौत ने दी चुनौती, पांच खबरें

{"_id":"5f6566fabb1283521d64a7aa","slug":"sushant-singh-rajput-case-8-other-celebrities-get-notice-and-kangana-ranaut-says-she-will-quit-twitter-entertainment-news","type":"photo-gallery","status":"publish","title_hn":"u0938u0941u0936u093eu0902u0924 u0915u0947u0938 u092eu0947u0902 u0938u0932u092eu093eu0928 u0938u0939u093fu0924 u0906u0920 u0939u0938u094du0924u093fu092fu094bu0902 u0915u094b u0928u094bu091fu093fu0938 u0914u0930 u0915u0902u0917u0928u093e u0930u0923u094cu0924 u0928u0947 u0926u0940 u091au0941u0928u094cu0924u0940, u092au093eu0902u091a u0916u092cu0930u0947u0902","category":{"title":"Bollywood","title_hn":"u092cu0949u0932u0940u0935u0941u0921","slug":"bollywood"}} ...