Advertisements
Home क्राइम एंबुलेंस ड्राइवर ने कोरोना+ लड़की का किया था रेप, पीड़िता ने लगाई...

एंबुलेंस ड्राइवर ने कोरोना+ लड़की का किया था रेप, पीड़िता ने लगाई फाँसी, बचाया गया

Advertisements

केरल के पतनमिट्टा से पिछले दिनों एक कोरोना पीड़िता के साथ बलात्कार की घटना सामने आई थी। अब खबर है कि उसी पीड़िता ने कोट्टयम के एक सरकारी मेडिकल कॉलेज में सुसाइड करने की कोशिश की है।

डेक्कन क्रॉनिकल की खबर के अनुसार, पीड़िता अपने आइसोलेशन वार्ड के बाथरूम में फँदे पर लटकने जा रही थी, तभी अस्पताल प्रशासन ने बाथरूम का गेट तोड़ कर उसे बचा लिया। फिलहाल लड़की की स्थिति स्थिर है और उसे निगरानी में रखा गया है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों केरल के पतनमतिट्टा जिले में कोरोना संक्रमित लड़की के साथ बलात्कार की घटना सामने आई थी। आरोपित की पहचान नौफ़ल नामक एक एंबुलेंस चालक के रूप में हुई थी। नौफ़ल ने घटना को अंजाम रविवार (6 सितंबर 2020) देर रात करीब 1 बजे दिया था। मामला उजागर होने के बाद पुलिस ने नौफ़ल की गिरफ्तारी की थी।

पड़ताल में मालूम हुआ था कि कोरोना संक्रमित के साथ बलात्कार करने वाला नौफ़ल अलाप्पुझा (Alappuzha) जिले का रहने वाला था और राज्य सरकार के 108 एंबुलेंस सर्विस विभाग से जुड़ा हुआ था।

– विज्ञापन –

20 वर्षीय लड़की के साथ बलात्कार की घटना उस वक्त हुई थी, जब उसे एंबुलेंस के जरिए पतनमतिट्टा से कोज़ेनचेरी स्थित कोविड स्वास्थ्य केंद्र ले जाया जा रहा था। ख़बरों के मुताबिक एंबुलेंस में दो मरीज थे। स्वास्थ्य अधिकारियों ने एक को कोज़ेनचेरी जिला अस्पताल लेकर जाने के लिए कहा और दूसरी को कोविड स्वास्थ्य केंद्र। इसके बाद नौफ़ल ने एक मरीज को जिला अस्पताल पहुँचाया और दूसरी को कोविड स्वास्थ्य केंद्र की तरफ लेकर गया।

कोविड स्वास्थ्य केंद्र जाने से पहले उसने एर्नामुला हवाई अड्डे के पास लड़की के साथ बलात्कार किया। पीड़िता ने स्वास्थ्य केंद्र पहुँचने के बाद वहाँ मौजूद कर्मचारियों को पूरी घटना की जानकारी दी। इसके बाद कर्मचारियों ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। उसी वक्त पीड़िता ने अपना बयान भी दर्ज कराया और पुलिस ने आरोपित एम्बुलेंस चालक नौफ़ल को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस को जाँच में पता चला कि आरोपित पर एक हत्या का मामला भी दर्ज है।

वहीं, पीड़िता के साथ हुई घटना की जानकारी होने के बाद उसे सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया। लेकिन मेंटल ट्रॉमा से गुजरने के कारण उसे काउंसलिंग की आवश्यकता थी इसलिए उसे कोट्टयम मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाना पड़ा, जहाँ स्थानीय मीडिया के अनुसार उसने हाल में फाँसी लगाने की कोशिश की।



Source link

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

लोकप्रिय

मॉउथवास, कोरोना वायरस की सक्रियता पर क्‍या असर डालते हैं?

पेंसिल्वेनिया: ओरल एंटीसेप्टिक्स और माउथवॉश, कोरोना वायरस की सक्रियता पर क्‍या असर डालते हैं? इसे लेकर पेन स्टेट कॉलेज ऑफ मेडिसिन में हाल ही...

आज़ादी से पहले ही टूटा बिहार का सपना

यह भी सुनें या पढ़ें : कहां अटक गया बिहार?यह भी सुनें या पढ़ें : बिहार के वास्ते जात को राज़ रहने दोसाठी बिहार...