Advertisements
Home राज्यवार बिहार सीवानः अस्पताल के बाहर बारिश में घंटों पड़ी रही महिला, किसी ने...

सीवानः अस्पताल के बाहर बारिश में घंटों पड़ी रही महिला, किसी ने नहीं ली सुध

Advertisements

कोरोना महामारी देश में जहां एक ओर विकराल रूप धारण करती जा रही है तो दूसरी ओर संक्रमित मरीजों को अपने इलाज के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है. बिहार में तो स्थिति खराब होती दिख रही है क्योंकि यहां पर कोरोना संदिग्ध मरीज अस्पताल के बाहर पड़े हुए हैं और उनका इलाज कराने के लिए काफी मिन्नतें की जा रही हैं.

ऐसा ही एक नया मामला है राज्य के सीवान जिले का. सीवान के सदर अस्पताल से फिर एक मानवता को शर्मसार करने वाली एक तस्वीर सामने आई. एक महिला सुबह से सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड के ठीक आगे गिरी पड़ी थी. सुबह से लगातार बारिश हो रही थी और वह महिला लगातार भीग भी रही थी, लेकिन अस्पताल प्रशासन मूकदर्शक बना हुआ था.

कोरोना मरीज नहीं- सिविल सर्जन

हालांकि, सिविल सर्जन यदुवंश शर्मा से जब इस पूरे मामले को जानने की कोशिश की गई तो उन्होंने साफ कर दिया कि वह कोरोना मरीज नहीं है. सीएस शर्मा ने यह भी कहा कि डीएम के द्वारा मुझे सूचना दी गई और हमने तुरंत संज्ञान लिया.

सीवान में अस्पताल के बाहर घंटों भीगती रही महिला

दूसरी ओर, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के गृह जिले का अस्पताल लगातार तीन बड़े मामलों से एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है. सोशल मीडिया पर यह खबर वायरल होने के बाद यूजर्स की ओर से दावा किया गया कि महिला को अस्पताल प्रशासन ने भर्ती कराया और उसका इलाज शुरू किया. कहा जा रहा है कि उसका कोरोना टेस्ट भी कराया जाएगा.

सोशल मीडिया पर वायरल

ट्विटर पर एक यूजर्स ने रविवार को पोस्ट कर दावा किया कि कुछ घंटे पहले, मेरे घर के आसपास रहने वाले एक फल विक्रेता के बच्चे को सांप ने काट लिया था. यहां भारी बारिश हो रही थी, इसलिए उसे सरकारी अस्पताल ले जाने के लिए कोई सुविधा नहीं मिली. मैंने उसे अपनी बाइक पर लिया, और वहां मैंने एक भयानक दृश्य देखा.

शिबली नाम के हैंडल से कहा गया कि वह महिला अकेली थी. मैंने अस्पताल वालों से कहा कि अगर कोई उसकी मदद नहीं करेगा तो वह मर जाएगी. तो उन्होंने कहा कि हम क्या कर सकते हैं. इस हैंडल से बिहार सरकार से मदद की गुहार लगाई गई.

इसे भी पढ़ें — बिहार BJP दफ्तर में कोरोना की एंट्री, स्टाफ समेत 75 नेता संक्रमित

बाद में अस्पताल प्रशासन ने महिला को भर्ती कर लिया और उसका इलाज शुरू किया.

इसे भी पढ़ें — कोरोना पॉजिटिव मरीज की रास्ते में मौत, एंबुलेंस ड्राइवर ने कचरे के डिब्बे के पास छोड़ा शव

इससे पहले बिहार से ही एक वीडियो वायरल हो गया जो राजधानी पटना के एनएमसीएच अस्पताल का था. अस्पताल के बाहर एक कोरोना पॉजिटिव मरीज 3 घंटे तक अपनी गाड़ी में बैठा रहा, लेकिन मौके पर मेडिकल स्टाफ नदारद रहा. वह खुद ही ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर अस्पताल के बाहर पहुंचा था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS



Source link

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

लोकप्रिय

Deepika Padukone का ड्रग्स केस में नाम आने की खबर पर कंगना रनोट ने तंज कंसते हुए कहा-माल है क्या

नई दिल्ली, जेएनएन। बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनोट ने इन दिनों कई बॉलीवुड हस्तियों को निशाने पर ले रखा है, जिसमें अब दीपिका पादुकोण...

शुगर का ज्यादा इस्तेमाल पहुंचा सकता है शरीर को नुकसान, जानें क्या है इसके संकेत

नई दिल्लीः आज के वर्तमान दौर में देश के साथ ही साथ विदेशों में खानपान में शुगर लेवल का...