Advertisements
Home बड़ी खबरें भारत सचिन पायलट खेमे के विधायक से पूछताछ करने फिर मानेसर पहुंची राजस्थान...

सचिन पायलट खेमे के विधायक से पूछताछ करने फिर मानेसर पहुंची राजस्थान SOG की टीम, खाली हाथ लौटी

Advertisements

Edited By Bharat Malhotra | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

मानेसर रिजार्ट पहुंची SOG टीम, खाली हाथ लौटी

मानेसर

राजस्थान पुलिस की टीम रविवार की शाम को हरियाणा के मानेसर पहुंची। पुलिस को खबर थी कि इसमें सचिन पायलट के कुछ समर्थक विधायक मौजूद हैं। हालांकि पुलिस को अंदर नहीं जा पाई और कुछ देर बाद राजस्थान पुलिस की स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप की टीम वापस लौट गई।

इस बीच हमारे सहयोगी टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक रिजॉर्ट के मैनेजर ने राजस्थान पुलिस को लिखित में आश्वासन दिाय है कि सचिन पायलट के समर्थक विधायक उसके रिजार्ट में नहीं रुके हैं।

तीन दिन में यह दूसरा मौका था जब राजस्थान पुलिस ने विधायकों के लिए हरियाणा पहुंची थी। शुक्रवार शाम को उन्हें एक होटल से खाली हाथ जाना पड़ा था। राजस्थान पुलिस ने यह भी कहा था कि हरियाणा पुलिस ने उसका सहयोग नहीं किया।

जानकारी के मुताबिक इस बार हरियाणा पुलिस भी वहां मौजूद थी लेकिन उन्होंने राजस्थान पुलिस की कार्यवाही में दखल नहीं दी।

एसओजी की एक टीम सरदार शहर विधायक भंवरलाल शर्मा से पूछताछ के लिए फिर मानेसर पहुंची थी। उनका नाम लीक हुए टेप में सामने आया था। एसओसी के अडिशनल डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस अशोक राठौड़ ने भी कहा था कि शर्मा से पूछताछ के लिए एक टीम को मानेसर भेजा गया है। शर्मा के जयपुर और चुरू स्थित उनके आवास पर भी नोटिस भिजवाए जाने की बात राठौड़ ने कही थी।

राज्य की अशोक गहलोत सरकार को गिराने के लिए विधायकों की खरीद-फरोख्त की साजिश के आरोपों की जांच कर रहे राजस्थान पुलिस के स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप ने कहा कि उन्होंने शुक्रवार को विधायक भंवर लाल शर्मा की आवाज के सैंपल की जांच की है। कांग्रेस का आरोप है कि बागी कांग्रेस विधायक एक बिचौलिए और एक व्यक्ति जिसका नाम गजेन्द्र सिंह है उससे गहलोत सरकार को गिराने के बारे में बात करते हुए सुनाई दे रहे हैं।

पायलट और उनके समर्थक 18 विधायक पिछले सप्ताह से ही मानेसर के दो रिजार्ट्स में रुके हुए बताये जाते हैं। पायलट अब खुलकर अपनी पार्टी के खिलाफ नजर आ रहे हैं और उन्हें तथा उनके समर्थकों को राज्य की अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ बड़ा खतरा माना जा रहा है।

पायलट और गहलोत के संबंधों में काफी खटास आ चुकी है। गहलोत खुलकर कह चुके हैं कि उनके पास इस बात के सबूत हैं कि उनकी सरकार को गिराने की कोशिश में पायलट बीजेपी की साजिश का हिस्सा हैं।

कांग्रेस ने पायलट और उनके समर्थक 18 विधायकों को अयोग्य करार दे दिया है। इसके खिलाफ वह कोर्ट जा चुके हैं। सोमवार को इस मामले पर हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है।

अगर पायलट को अदालत से राहत नहीं मिलती है तो 200 सदस्यीय राज्य विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा कम हो जाएगा। अशोक गहलोत ने 109 विधायकों के समर्थन का दावा किया है।

Source link

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

लोकप्रिय

पायल घोष ने अनुराग कश्यप पर लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप – BBC News हिंदी

2 घंटे पहलेइमेज स्रोत, @iampayalghoshअभिनेत्री पायल घोष ने फ़िल्मकार अनुराग कश्यप पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है. पायल घोष ने अनुराग कश्यप को...

6 महीने पहले बिहार की राजनीति को बदलने का दावा करने वाले प्रशांत किशोर अब गायब क्यों हैं?

Hindi NewsDb original7 Months Ago, Why Is Prashant Kishore Out Of Bihar Claiming To Change Bihar's Politics?नई दिल्लीएक घंटा पहलेलेखक: विकास कुमारकॉपी लिंकजनता दल...