Advertisements
Home बड़ी खबरें भारत पाकिस्तान के नए नक्शे पर क्या बोला चीन, कश्मीर पर भारत के...

पाकिस्तान के नए नक्शे पर क्या बोला चीन, कश्मीर पर भारत के क़दम को बताया अवैध

Advertisements

इमेज कॉपीरइट
Getty Images

जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संवैधानिक अनुच्छेद 370 को ख़त्म करने की पहली वर्षगांठ पर चीन के विदेश मंत्रालय ने प्रतिक्रिया दी है.

चीन ने कहा कि भारत ने कश्मीर में एकतरफ़ा फ़ैसले के ज़रिए यथास्थिति में बदलाव कर अवैध और ग़ैरक़ानूनी काम किया है. भारत ने पिछले साल जब अनुच्छेद 370 निष्प्रभावी किया था तब भी चीन ने इसी तरह से आपत्ति जताई थी.

चीन के बयान पर भारत के विदेश मंत्रालय ने कड़ा ऐतराज जताया है. भारत ने कहा कि चीन को दूसरे देशों के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी नहीं करनी चाहिए. भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि चीन को इस पर बोलने का कोई अधिकार नहीं है.

पाकिस्तानी की सरकारी समाचार एजेंसी असोसिएटेड प्रेस ऑफ पाकिस्तान ने बुधवार को चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन से प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कश्मीर और भारत को लेकर एक सवाल किया.

एपीपी ने सवाल पूछा, ”भारत ने कश्मीर की जनसांख्यिकी संरचना बदलने के लिए जो एकतरफ़ा क़दम उठाया था, उसे आज एक साल पूरा हो गया. अब भी बेगुनाह कश्मीरियों के ख़िलाफ़ अत्याचार जारी है. भारत की यह कोशिश और सीमा पर युद्धविराम के उल्लंघन के अलावा पाकिस्तान के ख़िलाफ़ बयानबाज़ी क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय शांति के लिए ख़तरा है. भारत के इस क़दम के बाद से ही चीन संयुक्त राष्ट्र चार्टर और शांतिपूर्ण तरीक़ों से कश्मीर का विवाद सुलझाने की वकालत करता रहा है. अभी चीन का क्या रुख़ है?”

इमेज कॉपीरइट
Getty Images

इस सवाल के जवाब में वांग वेनबिन ने कहा, ”चीन की नज़र कश्मीर के हालात पर बनी हुई है. कश्मीर मुद्दे पर हमारा रुख़ बिल्कुल स्थिर और स्पष्ट है. पहली बात तो यह कि कश्मीर मुद्दा भारत और पाकिस्तान बीच ऐतिहासिक रूप से विवादित है. यह बात संयुक्त राष्ट्र चार्टर, सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों और दोनों देशों के द्विपक्षीय समझौतों में भी कही गई है.”

”दूसरी बात यह कि कश्मीर की यथास्थिति में किसी भी तरह का एकतरफ़ा बदलाव अवैध है. तीसरी बात यह कि कश्मीर मसले का समाधान संबंधित पक्षों को शांतिपूर्ण संवाद में खोजना चाहिए. भारत और पाकिस्तान दोनों पड़ोसी हैं और इसे बदला नहीं जा सकता. दोनों देशों के बीच अच्छे संबंध दोनों के ही हित में हैं. यह अंतरराष्ट्रीय समुदाय के भी हित में है. चीन उम्मीद करता है कि दोनों पक्ष बातचीत के ज़रिए अपने मतभेदों को सुलझाएंगे और रिश्ते बेहतर करेंगे. यह दोनों देशों और पूरे इलाक़े की तरक़्क़ी, शांति और स्थिरता के हक़ में होगा.”

इमेज कॉपीरइट
Getty Images

इसी प्रेस कॉन्फ़्रेंस में साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट ने वांग वेनबिन से पाकिस्तान की तरफ़ से मंगलवार को जारी किए गए नए नक़्शे के बारे में पूछा. एससीएमपी ने पूछा, ”पाकिस्तान के राष्ट्रपति ने नया मानचित्र जारी किया है जिसमें पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को विवादित इलाक़े के तौर पर दिखाया गया है. इस पर आप कुछ कहना चाहेंगे?

इस सवाल के जवाब में वांग वेनबिन ने कहा, ”मैंने पहले ही कश्मीर मुद्दे पर चीन का रुख़ बता दिया है और मैं इसे दोहराना नहीं चाहता.”

पिछले साल चीन ने विशेष रूप से लद्दाख को केंद्रशासित प्रदेश बनाए जाने पर आपत्ति दर्ज कराई थी. भारत ने तब अक्साई चिन को भी लद्दाख का हिस्सा बताया था जो कि अभी चीन के नियंत्रण में है.

हालांकि भारत ने कहा था कि इससे सरहद में कोई बदलाव नहीं होगा. बुधवार को चीन ने जब कश्मीर पर अपनी राय रखी तो लद्दाख का ज़िक्र नहीं किया. पिछले साल चीन ने भारत का मुखर होकर विरोध किया था और इस मामले को सुरक्षा परिषद में भी लेकर गया था.

भारत के अधिकारियों का कहना है कि पाकिस्तान ने अपने नियंत्रण वाले कश्मीर में कई तरह के आंतरिक बदलाव किए हैं लेकिन चीन ने कोई आपत्ति नहीं जताई. पाकिस्तान ने गिलगित-बाल्टिस्तान में प्रशासनिक बदलाव किए हैं.

पाकिस्तान के नया नक्शा जारी करने पर भारत के विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को बयान में कहा, ”हमने पाकिस्तान का तथाकथित राजनीतिक नक्शा देखा है जिसे प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने जारी किया है.”

”गुजरात और जम्मू-कश्मीर पर इस तरह से दावे पेश करना राजनीतिक मूर्खता है. इन हास्यास्पद क़दमों की ना तो कोई कानूनी वैधता है और ना ही अंतरराष्ट्रीय समुदाय में विश्वसनीयता है. वास्तव में, पाकिस्तान की ये नई कोशिश सीमा पार आतंकवाद के जरिए क्षेत्रीय विस्तार की मंशा को पुख्ता करती है.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)



Source link

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

लोकप्रिय

IPL 2020: कोविड 19 ही नहीं गर्मी भी है खिलाड़ियों के लिए चुनौती, जानें किन खतरों के बीच मैदान पर उतरेंगे क्रिकेटर्स

कोरोना वायरस के कहर के बीच आज से यूएई के मैदान पर इंडियन प्रीमियर लीग का 13वां सीजन शुरू...

सुशांत केस में सलमान सहित आठ हस्तियों को नोटिस और कंगना रणौत ने दी चुनौती, पांच खबरें

{"_id":"5f6566fabb1283521d64a7aa","slug":"sushant-singh-rajput-case-8-other-celebrities-get-notice-and-kangana-ranaut-says-she-will-quit-twitter-entertainment-news","type":"photo-gallery","status":"publish","title_hn":"u0938u0941u0936u093eu0902u0924 u0915u0947u0938 u092eu0947u0902 u0938u0932u092eu093eu0928 u0938u0939u093fu0924 u0906u0920 u0939u0938u094du0924u093fu092fu094bu0902 u0915u094b u0928u094bu091fu093fu0938 u0914u0930 u0915u0902u0917u0928u093e u0930u0923u094cu0924 u0928u0947 u0926u0940 u091au0941u0928u094cu0924u0940, u092au093eu0902u091a u0916u092cu0930u0947u0902","category":{"title":"Bollywood","title_hn":"u092cu0949u0932u0940u0935u0941u0921","slug":"bollywood"}} ...