Advertisements
Home स्वास्थ्य बारिश का मजा कहीं बन न जाए आपकी सजा! नहाने से पहले...

बारिश का मजा कहीं बन न जाए आपकी सजा! नहाने से पहले बरतें सावधानियां नहीं तो ये 5 संक्रमण बना लेंगे अपना शिकार

Advertisements

मानसून की शुरुआत के साथ ही कोरोनोवायरस के मामलों की संख्या में हर दिन बढ़ोत्तरी हो रही है। ऐसा माना जा रहा था जैसा कि कुछ शोधकर्ता ये दावा कर रहे थे कि गर्मी के मौसम में कोरोनावायरस का कहर थोड़ा थम जाएगा,जबकि ऐसा हुआ नहीं। जैसे-जैसे भारत के कई हिस्सों में मानसून अपने चरम पर पहुंच गया है, लोग और भी सतर्क हो गए हैं। मानसून न केवल बढ़ते COVID-19 मामलों का एक कारण है, बल्कि इस मौसम में स्वस्थ व्यक्ति के भी संक्रमण का शिकार हो जाने और बीमार पड़ने की संभावना भी उतनी ही ज्यादा होती है। 

क्यों मानसून के मौसम में बीमार होने की संभावना होती है अधिक 

कुछ अध्ययनों के अनुसार, किसी भी अन्य मौसम की तुलना में मानसून के मौसम में बैक्टीरिया और वायरल संक्रमण को पकड़ने का जोखिम दो गुना अधिक होता है। हवा में उच्च नमी की मात्रा हानिकारक सूक्ष्म जीवों को पनपने में आसान बनाती है, जिसके परिणामस्वरूप विभिन्न प्रकार के संक्रमण होते हैं। इस लेख में हम आपको ऐसे पांच सबसे सामान्य प्रकार के मानसूनी संक्रमणों के बारे में बता रहे हैं। साथ ही इस लेख में आपको ये भी बताएगा कि इन्हें कैसे रोका जाए।

डेंगू

इस मौसम में डेंगू और चिकनगुनिया जैसी मच्छर जनित बीमारियां बहुत आम हैं। भारी बारिश से जल जमाव हो जाता है, जो मच्छरों के लिए सही प्रजनन स्थल के रूप में कार्य करता है, जिससे डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बीमारियां होती हैं। ऐसी बीमारियों को रोकने के लिए, बारिश के पानी को अपने आस-पास कहीं भी इकट्ठा नहीं होने देना सबसे अच्छा तरीका है। मच्छर के काटने से खुद को बचाने के लिए फुल स्लीव्स के कपड़े पहनना भी बचाव का एक दुरुस्त तरीका है। 

इसे भी पढ़ेंः मानसून के दौरान पेट की समस्याओं से हैं परेशान? आयुर्वेद के इन तरीकों से पाएं जल्द राहत

दस्त

मानसून का मौसम खाद्य पदार्थों में पनपने के लिए रोगाणुओं के लिए एकदम सही समय होता है, खासकर अगर इसे ठीक से संग्रहीत नहीं किया जाए तो। अगर कोई ऐसे दूषित भोजन का सेवन करता है, तो इससे दस्त और पेट में संक्रमण हो सकता है। इसे बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि बाहर के खाने के बजाए घर का बना खाना चुनें और खाने में किसी भी फंगस या कीड़े के लिए अच्छी तरह से जांच करें। खाना पकाने से पहले गर्म पानी में सब्जियों और फलों को धोने की भी सलाह दी जाती है।

flu

सर्दी और फ्लू

इस मौसम में सबसे आम वायरल बीमारियों में से एक सर्दी और फ्लू है।  इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि हम अपना बचाव कितने सही तरीके से करते हैं, हम सभी इस मौसम में कम से कम एक बार या उससे अधिक बीमार पड़ ही जाते हैं। इस समय हवा में रोगजनकों की अधिक मात्रा के कारण सर्दी और फ्लू आम हैं। सर्दी और फ्लू वाले लोगों के सीधे संपर्क में न आएं। यदि परिवार के किसी सदस्य को ऐसा हो जाता है तो अलग तौलिये, बर्तन का उपयोग करें और अपने हाथों को बार-बार धोएं।

इसे भी पढ़ेंः मानसून के महीनों में सलाद खाना कर सकता है आपको बीमार, जानें इन दिनों सलाद खाने का सही तरीका

हैजा

यह एक जलजनित संक्रमण है और इस तरह के मौसम में बहुत हीआम है। खुद को सुरक्षित रखने के लिए हाइड्रेटेड रहें और स्वच्छ भोजन ही करें।

टायफाइड

सही तरीके से साफ-सफाई नहीं होने के कारण मानसून के मौसम में टायफाइड होना आम है और ये एक जलजनित बीमारी है। इस रोग में आपको बुखार हो सकता है, त्वचा पर पीलापन बढ़ सकता है। इसके साथ ही ये आपके लिवर को भी प्रभावित कर सकता है। सुनिश्चित करें कि आप टायफाइड से दूर रहने के लिए साफ पानी ही पीएं। बाहर से कोई भी खुला पानी-आधारित पेय न लें और जहां भी जाएं अपनी पानी की बोतल ले जाने की कोशिश करें।

Read More Article On Other Diseases In Hindi

Source link

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

लोकप्रिय

चुनाव हारने और व्हाइट हाउस छोड़ने के सवाल पर डोनाल्ड ट्रंप के जवाब ने लोगों को चौंकाया

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तीन नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति पद के चुनाव में हार की स्थिति में सत्ता के शांतिपूर्ण हस्तांतरण...

लैपटॉप के बाद अब स्मार्टफोन बेचेगी HP, Foldable Phone से हो सकती है शुरुआत

नई दिल्लीः स्मार्टफोन बाजार में अब वो कंपनियां भी अपनी पैठ बनाने की तैयारी कर रही हैं, जो अभी तक केवल लैपटॉप और कंप्यूटर्स...