Advertisements
Home राज्यवार उत्तर प्रदेश UPSC Civil Services Final Result 2019: प्राइवेट नौकरी से रिजाइन, IAS एग्जाम...

UPSC Civil Services Final Result 2019: प्राइवेट नौकरी से रिजाइन, IAS एग्जाम क्वालिफाई, प्रतिभा की सक्सेस स्टोरी

Advertisements
प्रतिभा वर्मा ने हासिल की तीसरी रैंक

सुलतानपुर

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने सिविल सर्विस 2019 का रिजल्ट मंगलवार को जारी कर दिया। इसमें प्रतिभा वर्मा ने देश में तीसरा तो महिलाओं में पहला स्थान हासिल किया है। प्रतिभा की इस कामयाबी से घर में खुशी का माहौल है। यही नहीं, जिले के लोगों ने भी प्रतिभा को इस मुकाम तक पहुंचने के लिए बधाई दी है। परिवारवालों का कहना है कि प्रतिभा ने इस मुकाम तक पहुंचने के लिए खूब मेहनत की है।

आईएएस एग्जाम क्वालिफाई करने वालीं प्रतिभा जिले के शहर स्थित बघराजपुर मोहल्ले की निवासी हैं। पिता सुवंश वर्मा रिटायर्ड प्रिंसिपल तो मां ऊषा वर्मा प्राइमरी की टीचर हैं। मंगलवार को जब बेटी के टॉप करने की खबर मिली तो दोनों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

पढ़ें: पिता ने घर बेचकर पढ़ाया, बेटा आज बना IAS


“बिटिया ने जो सपना देखा था, उसने उसकी खातिर जीतोड़ मेहनत की और नतीजा सामने है।”-ऊषा वर्मा, प्रतिभा की मां

फिर तैयारी में जुट गईं प्रतिभा

एनबीटी ऑनलाइन से बात करते हुए प्रतिभा की मां ऊषा वर्मा ने कहा, ‘रिजल्ट की जानकारी मिलने का साथ ही हमारी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। हम इस खुशी को शब्दों में नहीं बयां कर सकते हैं।’ ऊषा वर्मा बताती हैं कि पिछले साल आईएएस में बेटी का चयन हुआ था, उसकी 489 रैंक थी। बेटी ने नागपुर में इनकम टैक्स कमिश्नर के पद पर जॉइन कर लिया था। हालांकि, रैंक कम होने के चलते उसने आगे की तैयारी के लिए लीव ली और तैयारी में जुट गई।

’16 से 18 घंटे करती थी पढ़ाई’

ऊषा वर्मा कहती हैं, ‘मैं बेटी की पढ़ाई के घंटों को गिनकर नहीं बता सकती। कभी-कभी तो रात को 3 बजे जब मैं उठती तो उसे पढ़ता देखकर मैं उसे डांटकर सुलाती थी। कम से कम वह 16 से 18 घंटे पढ़ाई करती थी। प्रतिभा शुरू से ही होनहार थी, नर्सरी से लेकर कक्षा 5 तक की शिक्षा उसने शहर के एक स्कूल से ली।’

पढ़ें: स्टीम क्लिनिंग से कोरोना फ्री बन जाएगा घर?

IIT दिल्ली से किया था बीटेक, फिर…

प्रतिभा की मां कहती हैं, ‘इसके बाद कक्षा 6 में उसने रामराजी बालिका इंटर कॉलेज में दाखिला लिया। वर्ष 2008 में उसने हाई स्कूल की परीक्षा में यूपी में थर्ड रैंक हासिल की। अपनी इस कामयाबी के बाद उसने फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा। शहर के केएनआईसी स्कूल से इंटर की परीक्षा में उसने जिला टॉप किया। फिर आईआईटी दिल्ली में उसका चयन हो गया। बीटेक के बाद उसका वोडाफोन कंपनी में कैम्पस सेलेक्शन हो गया, जहां उसने एक साल जॉब की। हम लोगों ने उसका हौसला बढ़ाया। फिर उसने वहां से नौकरी से रिजाइन दे दिया।’

Source link

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

लोकप्रिय

भारत में पोको X3 की कीमत में इजाफा, 22 सितंबर को लॉन्च होने की अफवाह

पोको एक्स 3 को भारत में 22 सितंबर को लॉन्च किया जाएगा, और इसकी कीमत रुपये में हो सकती है। 18,999 या रु।...

Covid 19 In india: दशहरा या दीवाली…इसी रफ्तार से बढ़ता रहा कोरोना तो शीर्ष पर होगा भारत

अमेरिका के बाद भारत दूसरे नंबर पर है। https://www.worldometers.info/coronavirus/ कोरोना के आंकड़े बताने वाली साइट की मानें तो अमेरिका में 6,925,941 मामले सामने आ...